बुधवार, 7 मई 2014

चुनावी क्षणिका— 'इंतजार'- Rajeev namdeo 'Rana lidhori'

चुनावी क्षणिका— 'इंतजार'

वोटिंग हो गयी,
उतर गया चुनाव का बुखार।
अब कर रहे सब
गिनती का इंतज़ार।
सब अपनी —अपनी
जीत का,कर रहे इज़हार।
जनता ने तो कर दिया फैसला,
बनेगी किसकी सरकार।।

    कवि—राजीव नामदेव 'राना लिधौरी',
                टीकमगढ़ (म.प्र.) भारत
Blogg-rajeevranalidhori.blogspot.com

सोमवार, 5 मई 2014

चुनावी क्ष​​णिका-Rana Lidhori

चुनावी क्ष​​णिका—'चुनावी लहर'

सोलह दल मिलकर रहे।
सोलह का इंतजार।
नैया दिखती डूबती।
अब कौन लगाये पार।
कह 'राना' कविराय,
लहर मोदी की छाई।
सत्ता परिवर्तन की,
अब है बारी आयी।।

          888
​कवि—राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
              टीकमगढ़ (म.प्र.)