मंगलवार, 30 सितंबर 2014

राष्ट्रवादी कवि सम्मेलन दिनांक-29.9.2014 टीकमगढ़

माँ पायस्विनी अखाड़ा समिति द्वारा आयोजित 
राष्ट्रवादी कवि सम्मेलन में काव्य पाठ करते हुए कवि

दिनांक-29.9.2014 टीकमगढ़/    / भटनागर कालोनी में माँ पायस्विनी अखाड़ा समिति द्वारा आयोजित राष्ट्रवादी कवि सम्मेलन में मंचासीन कवि सुमित मिश्रा ओरछा,देवेन्द्र चतुर्वेदी महोबा,सुमन जतारा,राजेन्द्र विदुआ,राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी’ टीकमगढ़, डाॅ. जेपी रावत,लालजी सहाय श्रीवास्तव लाल,उमाशंकर मिश्र टीकमगढ़ ने काव्य पाठ कर श्रोताओं को देर रात तक आनंदित किया।

रपट- राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी   
अध्यक्ष म.प्र.लेखक संघ,टीकमगढ़,
मोबाइल-9893520965   



रविवार, 28 सितंबर 2014

म.प्र.लेखक संघ की ‘हिन्दी’ पर केन्द्रित 188वीं गोष्ठी हुई-


म.प्र.लेखक संघ की ‘हिन्दी’ पर केन्द्रित 188वीं गोष्ठी हुई-
       
  टीकमगढ़//नगर की ख्यातिप्राप्त सुप्रसिद्ध साहित्यिक संस्था म.प्र.लेखक की 188वीं गोष्ठी ‘राज भाषा हिन्दी’ पर केन्द्रित जिला पुस्तकालय में आयोजित की गयी जिसके मुख्य अतिथि कवि रघुवीर प्रसाद अहिरवार आनंद’ रहे व अध्यक्षता साहित्यकार बी.एल.जैन ने की तथा विशिष्ट अतिथि बल्देवगढ़ से पधारे साहित्यकार यदुकुलनन्दन खरे रहे।
गोष्ठी के प्रथम चरण में हरेन्द्रपाल वक्ताओं द्वारा ‘हिन्दी’ पर अपने विचार व्यक्त किये।
द्वितीय चरण में काव्य गोष्ठी हुई जिसमें हाजी ज़फ़र उल्ला खां जफ़र ने पढ़ा-
भारत वर्ष महान है। हिन्दी जिसकी शान है।
म.प्र. लेखक संघ के जिलाध्यक्ष राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी’ ने ‘हिन्दी’ पर  ‘ग़ज़ल’ सुनायी-
                  हमारी शान है हिन्दी, हमारी जान है हिन्दी। हमारे राष्ट्र की यही तो पहचान है हिन्दी।।
     ग्राम नदनवारा से पधारे गीतकार शोभाराम दांगी‘इन्दु’ ने पढ़ा-हिन्दी बोलत रइयो, सो अपनी भाषा मान।।
ग्राम दिगौड़ा से पधारे कवि देवन्द्र कुमार अहिरवार ने पढ़ा-हिन्दी तो लिख नहीं सकते अंग्रेजी में बात करते है।
परमेश्वरीदास तिवारी ने पढ़ा-कर्ज देता मित्र को वह मूर्ख कहलाता है। महामूर्ख वह यार है जो पैसा लौटाये।।
रघुवीर आनंद ने रचना पढ़ी- जितना अपनाओंगे उतनी निखार आयेगी। जिन्दगी कोई ख्वाब नहीं जो विखर जायेगी।। 
पूरन चन्द्र गुप्ता ने पढ़ा-भाषा अपनी हो जहाँ उन्नति वहीं सदाय। राजभाषा हिन्दी बन हिन्दुस्तान कहाय।।
वीरेन्द्र चंसौरिया ने गीत सुनाया-जिन्हें हम अपना कहते थे उन्हीं ने रंग बदले है।
ऐेसे अपनों से क्या लेना एसे अपनो कोक्या देना।।
ग्राम लखोरा से पधारे कवि ग्ुालाब सिंह ‘भाऊ’ ने कविता पढ़ी’-अब देश में अपराधी असंख्य होगये।
कैसे बचत बिच्छु कैसे तक हो गये डर नईया निरशंक हो गये।।
ग्राम बल्देवगढ़़ ने पाधारे कवि यदुकुल नंदन खरे ने-जल में न आग लगा ओं तुम नव पीढी को न ठुकराओं तुम।।
डाॅ. जगदीश रावत ने कविता पढी-आले में की ढिबरियाँ घर के शालिगराम। आँगन की तुलसी कहाँ हो गई गुमनाम।।
हरेन्द्र पाल सिंह ने सुनाया-सपने आते ही क्यों हैं जग उन्हें जाना है। यर्थात के धरातल से दूर जब उन्हें जाना है।।
मनमोहन पांडे ने गीत पढ़ा- नव दुर्गा की प्रतिपदा आई लै आनंद। महिलाओं में दिख रहा नया जोश नव छंद।।
दीनदयाल तिवारी ने पढ़ा- कबै की कौ का होने किकर काउ खौं नैंयाँ। बडे मजे से सबखौं आरइ ऊँट चढ़ मलकैया।
बी.एल.जैन ने रचना पढ़ी- जहाँ स्नेह है वहाँ प्रेम है दया है करूणा है।सरलता का भाव है सहयोग भी प्रेरणा है।।
अजीत श्रीवास्तव ने ‘जुएँ की फसल’ एवं विजय मेहरा ने ‘दशहरा का रावण’ एवं रामगोपाल रैकवार ने ‘ ‘चा-चा-चा-चा-चा-चा’ ने व्यंग्य सुनाया।
इनके आलावा अवध विहारी श्रीवास्तव, अभिनंदन जैन, बी.एल जैन डाॅ. आशा देवी,आदि ने भी अपनी रचनाएँ सुनायीे। गोष्ठी संचालन वीरेन्द्र चंसारिया ने किया एवं सभी का आभार प्रदर्शन जिलाध्यक्ष राजीव नामदेव ‘राना लिधोैरी’ ने किया।                                            
                                    रपट- राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी’
                ,                अध्यक्ष म.प्र.लेखक संघ,टीकमगढ़,






                                          मोबाइल-9893520965,               

गुरुवार, 25 सितंबर 2014

राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी’ (टीकमगढ़) को सांस्कृतिक मंत्री चुना गया

राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी’ बुंदेलखण्ड क्षत्रिय नामदेव
        महासभा की प्रांतीय कार्यकारिणी में सांस्कृतिक मंत्री चुने गये

टीकमगढ़//नगर के ख्यातिप्राप्त साहित्यकार एवं म.प्र. लेखक संघ जिला इकाई टीकमगढ के जिलाध्यक्ष राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी’ को ‘बुन्देलखण्ड क्षत्रिय नामदेव महासभा की प्रांतीय कार्यकारिणी में सांस्कृतिक मंत्री चुने गये है। श्री सुखराम नामेदव (बण्डा) को महा सभापति,श्री आर.डी.नामदेव (दतिया) को सर्वसम्मति से बुन्देलखण्ड क्षत्रिय नामदेव महासभा का प्रांतीय अध्यक्ष चुना है। जबकि उपाध्यक्ष श्री श्याम किशोर नामदेव (बण्डा) व श्री केशव कुमार नामदेव (छतरपुर) को उपाध्यक्ष तथा डाॅ. ए.के.नामदेव (जबेरा) को महामंत्री  एवं राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी’ (टीकमगढ़) को सांस्कृतिक मंत्री चुना गया है।
        गौरतलब हो कि राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी’ के नेतृत्व में टीकमगढ़ जिला इकाई ने प्रदेश भर में सर्वाधिक 187गोष्ठियाँ आयोजित कराके इतिहास रचा है तथा उनकी ‘अर्चना’,‘रजनीगंधा’ और ‘नौनी लगे बुन्देली’ तीन पुस्तकें छप चुकी है एवं अनेक पत्र पत्रिकाओं का संपादन कर चुके है,वर्तमान में आप टीकमगढ़ जिले की एकमात्र साहित्यिक पत्रिका ‘आंकाक्षा’ का सफल संपादन विगत नौ साल से करते आ रहे है।
        राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी को ‘म.प्र. लेखक संघ की प्रांतीय कार्यकारिणी में सांस्कृतिक मंत्री चुने जाने पर नगर के समाज बन्धुओं व मित्रों ने उन्हें बधाईयाँ एवं शुभकामनाएँ दी।

फोटो स्केन-नामदेव क्षत्रिय संकल्प पत्रिका (जबलपुर) अंक-अगस्त 2014के पेज -20 से एवं 'नामदेव नूपुर' (भोपाल) अंक— अगस्त 2014 साभार


बुधवार, 24 सितंबर 2014

राष्ट्रभाषा प्रचार समिति द्वारा आयोजित जिला स्तरीय प्रतियोगिता में राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी’ कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे डाॅ. श्री के .एल. जैन साहब प्राचार्य डिग्री कालेज का पुष्पहार पहनाकर स्वागत करते हुए।

राष्ट्रभाषा प्रचार समिति द्वारा आयोजित जिला स्तरीय प्रतियोगिता
टीकमगढ़-दिनांक-21.9.2014 को राष्ट्रभाषा प्रचार समिति द्वारा आयोजित जिला स्तरीय प्रतियोगिता में पुष्पा हायर सेकेण्डरी स्कूल की छात्राओं द्वारा बेहतर प्रदर्शन किया गया।
वाद विवाद प्रतियोगिता में पुष्पा स्कूल कक्षा 12वीं की छात्रा कु.दीपिका वर्मा ने प्रथम स्थान प्राप्त किया उन्हें 300 रू.नगद एवं स्मृति चिन्ह व प्रमाण पत्र मिला तथा कु.समीक्षा जैन ने सान्तवना पुरस्कार प्राप्त किया उन्हें 100 रू. एवं स्मृति चिन्ह व प्रमाण पत्र मिला । लोकगीत गायन प्रतियोगिता में कु.साक्षी यादव ने तीसरा स्थान प्राप्त किया। उन्हें 250 रू.नगद एवं स्मृति चिन्ह व प्रमाण पत्र मिला।
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डाॅ.श्री आर.एन. नीखरा जी जिला शिक्षा अधिकारी एवं अध्यक्षता डाॅ. श्री के .एल. जैन प्राचार्य डिग्री कालेज ने किया।
म.प्र. लेखक संघ के जिलाध्यक्ष राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी’ कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे डाॅ. श्री के .एल. जैन साहब प्राचार्य डिग्री कालेज का पुष्पहार पहनाकर स्वागत करते हुए।

रविवार, 14 सितंबर 2014

Rajeev namdeo 'Rana lidhori' Bal Kavita-punch

‘देवपुत्र’ पत्रिका (इंदौर) वर्ष -35 अंक-3
संपादक-कृष्ण कुमार अष्ठाना
के अंक-सितम्बर 2014 में पेज-07 पर
 राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी’ टीकमगढ़ की
 प्रकाशित कविता-‘पूंछ हमारी होती’


रविवार, 7 सितंबर 2014