गुरुवार, 28 दिसंबर 2017

साहित्य अकादमी का दो दिवसीय ‘भूषण स्मृति समारोह’ सम्पन्न हुआ







sahitaya acemdmi bhopal
    बच्चों को अधिक से अधिक साहित्य पढ़ना चाहिए-डाॅ. उमेश कुमार सिंह
    साहित्य अकादमी का दो दिवसीय ‘भूषण स्मृति समारोह’ सम्पन्न हुआ
     अकादमी के निदेशक डाॅ. उमेश कुमार सिंह का हुआ सम्मान
        टीकमगढ़// साहित्य अकादमी भोपाल द्वारा टीकमगढ़ में दिनांक 26 एवं 27 दिसम्वर 2017 को अपूर्व हाॅटल के सभागार में दो दिवसीय भूषण स्मृति समारोह आयोजित किया गया। जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में प्रो.राधावल्लभ शर्मा भोपाल एवं विशिष्ट अथिति के रूप में डाॅ. बी.एल. वर्मा बिन्दू’ उपस्थित रहे अध्यक्षता प.हरिविष्णु अवस्थी ने की एवं संचालन डाॅ. आर.पी तिवारी ने किया। इस अवसर पर अकादमी के निदेशक डाॅ. उमेश सिंह जी को ‘पाठक मंच’ टीकमगढ़ द्वारा सम्मान-पत्र, शाल श्रीफल से सम्मानित किया।
         प्रथम दिवस छात्र-छात्राओं द्वारा कवि ‘भूषण’ पर केन्द्रित निबंध लिखवाये गये । जिसका स्थानीय संयोजन साहित्यकार राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी’ ने किया। निबंध प्रतियोगिता में प्रथम स्थान कृष्णकांत अहिरवार शा.उत्कृष्ट विद्यालय क्र-1 ने प्राप्त किया तथा द्वितीय स्थान रूचि वर्मा सरोज कान्वेन्ट स्क्ूल ने एवं तृतीय स्थान रोशनी कुशवाहा डाइट कुण्डेश्वर ने प्राप्त किया है।
        दूसरे दिवस ‘राष्ट्रीय चेतना के कवि भूषण’ पर प्रमुख वक्ता प्रो.राधावल्लभ शार्म भोपाल,डाॅ.वी.एल.वमा बिन्दू’ एवं प.हरिविष्णु अवस्थी ने द्वारा अपने वकतव्य दिये गये। तृतीय चरण के कवि सम्मेलन हुआ जिसमें प्रमुख रूप से डाॅ. दुर्गेश दीक्षित,मनमोहन पाण्डे,एन.डी.सोनी,शिवचरण उटमालिया,सियाराम अहिरवार एवं सुधा खरे द्वारा काव्य पाठ किया गया संचालन हरेन्द्र पाल सिंह ने किया तथा संयोजन विजय कुमार मेहरा ने किया।
        अंत में सभी प्रतिभागियों को प्रमाण पत्र एवं पुरस्कार दिये गये। अपने आभार प्रदर्शन के दौरान अकादमी के निदेशक डाॅ. उमेश कुमार सिंह ने बच्चों को अधिक से अधिक साहित्य पढ़ने लिए उन्होंने जोर दिया। अकादमी के उद्देश्यांे के बारे में बताया एवं  अकादमी द्वारा क्षेत्रीय बोलियो पर छः नये पुरस्कार शुरू करने की जानकारी दी।
        अकादमी द्वारा निःशुल्क पुस्तकें उपहार स्वरूप दी गयी। इस अवसर पर अकादमी से राकेश कुमार ंिसह,गुणसागर सत्यार्थी, गुणसागर सत्यार्थी, डाॅ.कैलाश बिहारी द्विवेदी,राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी’,कौशल किशोर भट्ट,उमा शंकर मिश्रा, सहित भारी संख्या में साहित्यकार एवं श्रोता उपस्थित रहे।
                             रपट-राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी’
                                संपादक ‘आकांक्षा’ पत्रिका
                                अध्यक्ष म.प्र. लेखक संघ
                            टीकमगढ़ (म.प्र.)मोबाइल-9893520965

रविवार, 24 दिसंबर 2017

राना लिधौरी की ‘लुक लुक की बिमारी’ को मिला 5000रू.का पुरस्कार

 राना लिधौरी की ‘लुक लुक की बिमारी’ को मिला 5000रू.का पुरस्कार
‘राना लिधौरी’ के व्यंग्य संग्रह ‘लुक लुक की बीमारी’ का हुआ ओरछा में विमोचन
बुन्देली भाषा का ‘राष्ट्रीय सम्मेलन’ ओरछा जिला टीकमगढ़ म.प्र. (भारत)
टीकमगढ़// अ.भा. बुन्देलखण्ड साहित्य वं संस्कृति परिषद् जिला शाखा टीकमगढ़ के महामंत्री राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी’ के गद्य व्यंग्य संग्रह ‘लुक लुक की बीमारी’ का विमोचन ओरछा में बुन्देली भाषा का ‘राष्ट्रीय सम्मेलन’ में Date 21-12-2017 किया गया जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में
ब्ुंदेलखंड यूनिवर्सिटी झाँसी के कुलपति डॉ. सुरेन्द्र दुबे मौजूद रहे एवं अध्यक्षता नातीराजा मधुकर शाह जू देव ने की विशिष्ट अतिथि के रूप में जर्मनी से आयी प्रो. तत्याना ओरास्कया एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री कैलाश मडबैया भोपाल रहे। संचालन डॉ. कामिनी दतिया ने किया।

राना लिधौरी ने बताया कि दो दिवसीय बुन्देली का राष्ट्रीय सम्मेलन ओरछा के होटल बुन्देखण्ड रिवर साइड में आयोजित किया जायेगा। जिसमें बुन्देलखण्ड क्षेत्र लगभग 40 जिलां से बुन्देली के साहित्यकार शामिल हुये। परिषद् के राष्ट्रीय अध्यक्ष कैलाश मडबैया ने राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी के बुन्देली व्यंग्य संग्रह ‘‘लुक लुक की बिमारी’  को 5000रूपए का पुरस्कार देने की घोषणा की।
गौरतलब हो कि राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी’ की ‘‘लुक लुक की बीमारी’’ व्यंग्य संग्रह पाँचवीं पुस्तक है। जिसमें 130 पेजों में बुन्देली में लिखे 29 गद्य व्यंग्य छपे है। इसके पूर्व उनकी द्दसी‘अर्चना’,(कविता संग्रह), ‘रजनीगंधा’(हिन्दी हायकू संग्रह), ‘नौनी लगे बुंदेली’ (बुन्देली हायकू संग्रह) एवं ‘राना का नजराना’(ग़ज़ल संग्रह) प्रकाशित हो चुकी,दर्जन भर पुस्तकों का संपादन कर चुके है एवं और विगत 13 वर्षो से वे टीकमगढ़ जिले से प्रकाशित होने वाली एकमात्र साहित्यिक पत्रिका ‘आकांक्षा’ पत्रिका का संपादन करते आ रहे है।
---
-राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी’
 जिला अध्यक्ष-म.प्र.लेखक संघ
 टीकमगढ़ मोबाइल-9893520965




राना लिधौरी ‘मंचीय हास्य-व्यंग्य’ कवि सम्मान से सम्मानित-


राना लिधौरी ‘मंचीय हास्य-व्यंग्य’ कवि सम्मान से सम्मानित-

टीकमगढ़// भोपाल के हिन्दी भवन में  रविवार 24 दिसम्बर 2017 आयोजित म.प्र. लेखक संघ के प्रादेशिक सम्मान समारोह में सुप्रसिद्ध कवि राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी’ को अमित-रमेश शर्मा स्मृति सम्मान 2017 से सम्मानित किया गया।
 यह सम्मान म.प्र. के ऐसे साहित्यकार को प्रदान किया जाता है जिसने हास्य-व्यंग्य के माध्यम से मध्य प्रदेश में में अपनी विशिष्ट पहचान बनायी है।
कार्यक्रम में मुख्य अतिथि पद्मश्री श्री रमेशचन्द्र शाह जी एवं डंाॅ. संतोष चैबे जी कुलाधिपति आइसेक्ट विश्वविद्यालय रहे एवं अध्यक्षता वरिष्ट साहित्यकार श्री बटुक चतुर्वेदी जी की तथा कार्यक्रम का संचालन कैलाश जयासवाल जी ने किया।
      उल्लेखनीय है कि राना लिधौरी ने अब तक लगभग 600 कविसम्मेलन व गोष्ठियाँ में भागीदारी की है एवं अपने संयोजन मे अब तक 230 कवि गोष्ठी व कवि सम्मेलन आयोजिक करा चुके है।
 उनके 5 संग्रह छप चुके है एवं दर्जन भर का संपादन कर चुके हैं । वे वर्तमान में वगित 13 वर्षो से ‘‘आकांक्षा’’ पत्रिका का सफल संपादन करते आ रहे है।rajeev namdeo rana lidhori
इस उपलब्धि पर नगर के साहित्यकारों, शुभचिंतकों, ने राना लिधौरी को बधाईयाँ व शुभकामनाएँ दी है।


-राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी’
जिला अध्यक्ष-म.प्र.लेखक संघ
 टीकमगढ़ मोबाइल-9893520965








शनिवार, 9 दिसंबर 2017

Kavi Sammelan tikamgarh MP Lekhak Sangh

Kavi Sammelan tikamgarh

Tikamgarh Mushayra tiakmgarh mp

My blog Update 6-12-2017

Bundeli kavi gosthi -MP Lekhak Sangh Tikamgarh M.P. 3-12-2017

Rajeev Namdeo Rana Lidhori Sammnit Bhopal

Akanksha Public school tikamgarh m.p.

rajeev namdeo rana lidhoriAkanksha Public school tikamgarh m.p.

बुधवार, 25 अक्तूबर 2017

‘स्व.चतुर्भज पाठक की पुण्य तिथि मनायी गयी’’ Date- 23-10-2017

Date-23-10-2017 Tikamgarh (mp)
‘‘स्व.चतुर्भज पाठक की पुण्य तिथि मनायी गयी’’

पाठक जी ‘बुन्देलखण्ड के थे महात्मा गाँधी’’-राना लिधौरी

टीकमगढ़// स्व.श्री चतुर्भज पाठक स्मृति न्यास द्वारा स्थानीय तालदरवाजा स्थित सर्वोदय सदन में स्व.चतुर्भज पाठक की 36वीं पुण्य तिथि मनायी गयी। जिसकी अध्यक्षता म.प्र.लेखक संघ के जिलाध्यक्ष राजीव नामदेव ‘‘राना लिधौरी’ ने की। इस अवसर पर पाठक जी के व्यक्तित्वएवं  कृतित्व पर  प्रकाश डाला गया एवं उनके जीवन के प्रेरक प्रसंग सुनाये गये कवियों एवं साहित्यकरों ने उन्हें अपनी श्रृद्धांजलि दी। श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए अपने उद्वोधन में श्रीमती मनोरमा शर्मा ने कहा कि-‘‘स्व.पाठक जी में दूसरों को क्षमा करने एवं क्रोध पर नियंत्रण करने की असीमित शक्ति थी उन्होंने न किसी को दबाया और न किसे से दबे।’’ आर.एस.शर्मा ने कहा कि-‘‘वे जिंदगी भर भलाई एवं परोपकार के कार्यो में व्यस्त रहे। उन्होंने कभी किसी का दिल नहीं दुखाया। उनकी आत्मीयता एवं अपनत्व की भावना आज भी सभी को रूलाती है।
काव्यमय श्रृद्धांजलि देते हुए राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी’ ने पढ़ा-
सर्वोदय की खूब चलाई ‘राना’ उनने आँधी।
पाठक जी ‘बुन्देलखण्ड के थे महात्मा गाँधी।।
वीरेन्द्र चंसौरिया ने गीत सुनाया- समानव सेवा का व्रत लेकर।  वहीं करेंगे जो ठानंेगे।।
ग्राम लखौरा से पधारे बुंदेली कवि गुलाब सिंह भाऊ ने सुनाया-कै दिन करो बहाने,
सखी री एक दिन सासुरे जाने।ं।
सीताराम राय ने पढ़ा- आप सरिस ढूँढ़ों कहाँ जाई, तब तुऐ तनय होव में आई।।
डी.पी.शुक्ला ने पढ़ा- नहीं करते थे वे आराम। ऐसे महापुरूष को मेरा शत्-शत् प्रणाम।
विजय पाठन ने कहा कि- करो तुम काम कुछ ऐसा कि दुनिया प्यारे दे तुमको।। इस मौके पर बी.के सक्सेना, राजीव नामदेव,विजय सिंह,एस.के सिंह, एस.आर.बादल,रामश्री चन्सौरिया, ए.के. अवस्थी, आर.एस.चतुर्वेदी, के.एल. राजपूत, जी.आर. नामदेव, बी.के.शर्मा आदि सहित अनके साहित्यकार,कवि एवं गणमानय नागरिक उपस्थित रहे।
कार्यक्रम का संचालन वीरेन्द्र कुमार चंसौरिया ने किया तथा सभी का। आभार आर.एस.शर्मा ने व्यक्त किया।
-राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी‘‘
अध्यक्ष-म.प्र.लेखक संघ टीकमगढ़





rajeev namdeo rana lidhori

रविवार, 1 अक्तूबर 2017

‘‘भक्ति सागर’’ का हुआ विमोचन
म.प्र. लेखक संघ का हुआ ‘कवि सम्मेलन’
(बल्देवगढ़,जतारा,नदनवारा,मडखेरा,सिमरा,लखौरा,पठा,कुण्ड़ेश्वर से आये कवि)

टीकमगढ़//नगर की सर्वाधिक सक्रिय साहित्यिक संस्था ‘म.प्र.लेखक संघ’ जिला इकाई टीकमगढ़ का 228वाँं कवि सम्मेलन ‘अंिहंसा एवं ‘वृद्ध जन’ पर केन्द्रित डे केयर राजमहल परिसर में आयोजित हुआ। जिसमें मुख्य अतिथि टीकमगढ़ कलेक्टर श्री अभिजीत अग्रवाल जी रहे एवं अध्यक्षता वरिष्ठ साहित्यकार प.हरिविष्णु अवस्थी ने की तथा विशिष्ट अतिथि के रूप में जिला पंचासयत अध्यक्ष श्री पर्वतलाल अहिरवार,पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष राकेश गिरि गोस्वामी,पं.हरिदास जी महाराज मंचासीन रहे। इस अवसर पर मुख्य अतिथि कलेक्टर महोदय श्री अभिजीत अग्रवाल द्वारा ‘म.प्र.लेखक संघ’ द्वारा प्रकाशित कवि श्री सीताराम राय ‘सरल’ की पुस्तक ‘भक्ति सागर’ का विमोचन किया गया। तत्पश्चात म.प्र. लेखक संघ द्वारा ‘कवि सम्मेलन’हुआ जिसका शुभारंभ
वीरेन्द्र चंसौरिया ने सरस्वती वंदना करते हुए यह रचना पढ़ी-
चारों ओर अंधेरा है माया ने घेरा है।
 ज्ञान का दिया मन में जला दीजिए।।
बल्देवगढ़ से पधारे कवि यदुकल नंदन खरे ने सुनाया-
इस तरह स्थिति में अंहिसा का सहारा है।
लोगों के लिए यही सहारा है।।
नदनवारा से पधारे गीताकर शोभाराम दांगी‘इन्दु’ ने सुनाया-
बेई मिट्टी बेई खान हते भौतउ ज्वान।
रामकृष्ण गौतम गांधी की राखें रइयों आन।।
जतारा से पधारे युवा कवि महेन्द्र चैधरी ने सुनाया-
शीश काटकर तड़फाया जाता है वीर जवानों को।
आ जाती है नींदे कैसे सत्ता के प्रधानों को।।
बल्देवगढ़ से पधारे कवि कोमल चन्द्र बजाज ने पढ़ा-
बापू आये सूर्यबनकर धर प्रभात का रूप।
आजादी के जल उठे दीपक दिव्य स्वरूप।।
लखौरा से पधारे बुन्देली कवि गुलाब ंिसंह यादव ‘भाऊ’ने पढ़ा-
पाप की जड़ नाग फांस है मनुवा।
हिंसा छोड़ अपननो अंहिसा है अनुवा।।
जिलाध्यक्ष राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी’ ने बुजुर्गो पर ग़ज़ल पढ़ी -
जिस घर में बुजुर्गो का सम्मान नहीं होता।
  उस घर में कभी ईश्वर मिहरवान नहीं होता।।
सीताराम राय ने सुनाया- अँगना में चाँद प्यारा त्रिशिला की गोद आया।
धरती मगन है सब ओर रंग छाया।।
सिमरा से पधारे कवि रविन्द्र यादव ने पढ़ा- माँ बहन कि लाज बनो मेरा सपना है।
  रोते हुए की मुस्कान बनों मेरा सपना है।।
मडखेरा से पधारे कवि जमुना नामदेव ने पढ़ा- रोम-रोम में गाय के बसे देव महादेव।
लक्ष्मी सदैव विष्णु वसे पूजा करो सदैव।।
परमेश्वरीदास तिवारी ने पढ़ा- गजब जमाना आया भैया बन जाये कुछ बात।
सियाराम अहिरवार ने पढ़ा- उखडन से उपजी नीरसता मन जीवन से ऊब गया,
नहीं रहा उद्देश्य दृढ़ तो मन जीवन से टूट गया।
आर.एस.शर्मा ने पढ़ा- धर्म और धंधे एक हो गये सचिन संचिदाननंद हो गये।।
पूरन चन्द्र गुप्ता ने पढ़ा- देखो तुम न इतै खों देखों तनक उतै खौ देखो।
इसके अलावा भाजपा जिला अध्यक्ष अभय प्रताप ंिसंह यादव, कपूर चन्द्र घुवारा,राजेन्द्र पस्तोर, भगवानदास वर्मा, डाॅ.दुर्गेश दीक्षित,टी.सी शर्मा, विजय मेहरा,रामगोपाल रैकवार,अजीत श्रीवास्तव,हाजी जफ़र उल्ला खां जफर,एन.डी.सोनी, दयाली विश्वकर्मा, रामेश्वर राय परदेशी, बाल मुकुन्द प्रजापति डे केयर, पूरनचन्द्र गुप्ता,दीनदयाल तिवारी, प्रभुदयाल गुप्ता साहित भारी संख्या में जन समूह आदि उपस्थित रहा। गोष्ठी का संचालन राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी’ ने किया तथा सभी आभार गीतकार सीताराम राय ‘सरल’ ने माना। ---

रिपोर्ट-राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी’,टीकमगढ़
अध्यक्ष- म.प्र.लेखक संघ टीकमगढ़
  मोबाइल-9893520965










शुक्रवार, 29 सितंबर 2017

गुरुवार, 21 सितंबर 2017

व्यंग्य कविता-‘‘चोटी कटवा’’

 व्यंग्य कविता-‘‘चोटी कटवा’’

हे चोटी कटवा, तुम यदि हो तो, अपनी शक्ति दिखाओ।
तुम हमारे सवालों का जल्दी से सही जबाब बताओ।।

दम है तो नेता की पत्नी की, चुटिया काटकर दिखाओ।
या फिर महिला पुलिस अधिकारी की चुटिया उड़ाओ।।

क्या तुम्हें गरीब महिला की चुटिया ही दिखती है।
क्यों तुमसे किसी हीरोइन की चुटिया नहीं कटती है।।

क्यों तुम्हें सिर्फ महिलाओं की चुटिया ही भाती है।
क्यों पिंड़त जी की चुटिया काटने में शर्म आती है।।

ब्यूटी पार्लर का धंधा ना अब तुम चौपट कराओ।
अंध विश्वास न जनता में अब तुम फैलाओ।।

गर काटते हो चुटिया तो अपने साथ ले जाओ।
‘राना’ तो है एक कवि,न उन्हें उल्लू बनाओ।।

 राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी’
संपादक ‘आकांक्षा’ पत्रिका
  अध्यक्ष-म.प्र लेखक संघ  
शिवनगर कालौनी,टीकमगढ़ (म.प्र.)
  पिनः472001 मोबाइल-9893520965
E Mail- ranalidhori@gmail.com
          Blog- rajeevranalidhori.blogspot.com

मंगलवार, 5 सितंबर 2017

‘आकांक्षा पब्लिक स्कूल’ में मनाया गया शिक्षक दिवस

गुरू ही बच्चों को सही दिशा एवं मार्गदर्शन देता है.... 

     (‘आकांक्षा पब्लिक स्कूल’ में मनाया गया  शिक्षक दिवस)

 शिक्षकों को किया सम्मानित

टीकमगढ़//नगर की शैक्षणिक संस्था  ‘आकांक्षा पब्लिक स्कूल’ में शिक्षक दिवस मनाया गया। सर्वप्रथम संस्था के प्राचार्य श्री आर.एस.शर्मा द्वारा डॉ.सर्वपल्ली राधा कृष्णनन जी के चित्र पर माल्यार्पण किया गया किया था।
 शिक्षक रविन्द्र यादव ने कहा कि- शिक्षकों अपने कतव्यों का निर्वाहन पूरी ईमारदारी से करना चाहिए प्रत्येक शिक्षक को आदर्श होना चाहिए वही बच्चों में चरित्र का निर्माण करता है।
 शिक्षक विकास नापित ने कहा कि- ‘‘गुरू ही बच्चों को दिशा एवं सही मार्गदर्शन देता हैं। जिससे बच्चे बड़े होकर अपना नाम कमाते है।’’
आकांक्षा स्कूल संचालक राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी’ ने कहा कि-‘‘गुरू महान होता है, तभी तो उनका बड़ा नाम होता है। बच्चे रूपी नन्हें पौधे को अपनी मेहनत और लगन से बड़ा करके उन्हें फलदार बनाता है।
अंत में आकांक्षा स्कूल के संचालक राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी ने शिक्षकों उपहार भैंट कर उनका सम्मान किया उन्हें शिक्षक दिवस पर शुभकामनाएँ दी।
---
रिपोर्ट   -राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी’
संचालक-आकांक्षा पब्लिक स्कूल टीकमगढ़
                    मोबाइल-9893520965









teachers day