शुक्रवार, 31 मार्च 2017

     राना लिधौरी के 51 देश के हुए ‘ब्लाग’ पाठक-

टीकमगढ़/ख्यातिप्राप्त सााहित्यकार एवं म.प्र.लेखक संघ के जिलाध्यक्ष राजीव नामदेव राना लिधौरी के ब्लाग पाठक अब 51 देशों तक फैल गये है ‘इजलाइल’ देश के एक पाठक के जुडने के साथ उनके ब्लाग पढ़ने वाले देशों की संख्या 50 हो गयी है तथा कोलाबिया के एक पाठक जुड़ने साथ ही उनकी संख्या 51 होगी है। राना लिधौरी ने बताया कि अब तक उनके हिन्दी में लिखे ब्लाग राजीव नामदेव राना लिधौरी को भारत के साथ-साथ 51 देशों के पाठकों ने पढा हैं जिसमें प्रमुख रूप से भारत के 3726,संयुक्त राज्य के 997, रूस के 310, फ्रांस के 252, पुर्तगाल के 122, पोलेंड़ के 85, जर्मनी के 81, यूक्रेन 64, वेनेजुएला के 37, संयुक्त राज्य अमीरात के 36 ,स्पेन 26, मलेशिया के 20, तुर्की के 18, द.कोरिया के 11, मेक्सको के 7, इंडोनेशिया के 5, ब्राजील के 4, ब्रिटेन के 3, यूनाइडेड किंगटन के 3,केन्या केन्या के 3, थाईलेंड के 3, रोमानिया के 2, आस्टेलिया के 2, सिंगापुर के 2, कांगो किरांग के 1, फिलीपींस, श्रीलंका, स्वीडन, साउदी अरब, बोलीविया, कजाकिस्तान, वियतनाम, लाइवेरिया, कतर,स्विडजरलैंड, कनाडा, मंगोलिया, मारीशस, चीन, यमन, चैकगण राज्य, नेपाल, हागकांग, इटली, नीदरलैंड, नार्वे, गिनी, माल्टा अजराइल, कोलंबिया आदि देशों के एक-एक पाठकों सहित कुल 6062 पाठकों ने राना लिधौरी का ब्लाग अब तक पढा है। और पाठकों की संख्या में निरंतर वृद्धि हो रही है राना लिधौरी ने बताया कि उन्होंने अपने ब्लाग में 255 पोष्ट डाली है जिनमें उनकी हिन्दी में लिखी कविताएँ, व्यंग्य, आलेख आदि रचनाएँ है।
गौरतबल हो कि राना लिधौरी की 4 पुस्तकें छप चुकी है एवं साहित्यिक पत्रिका ‘आंकाक्षा’ का संपादन वे विगत 12 वर्षो से करते आ रहे है। 11 पुस्तकों का संपादन कर चुके है। इंटरनेट पर उनके 4 ब्लाग है। फेसबुक पर लगभग 4500 मित्र है। आप वर्तमान में विगत 16 वर्षो से लगातार म.प्र. लेखक संघ जिला इकई टीकमगढ़ के अध्यक्ष पद को सुशोभित कर रहे है। आपके कुशल संचालन में म.प्र.लेखक संघ टीकमगढ़ की अब तक 221 गोष्ठियाँ सफलतापूर्वक आयोजित हो चुकी है।

    (राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी)
rajeev namdeo rana lidhori

























































बुधवार, 29 मार्च 2017

‘राना लिधौरी’ हुए बडामलहरा में सम्मानित ‘राना लिधौरी’ के सम्मान में हुई ‘कवि गोष्ठी’

Date-26-3-2017
‘राना लिधौरी’ हुए बडामलहरा में सम्मानित
‘राना लिधौरी’ के सम्मान में हुई ‘कवि गोष्ठी’

टीकमगढ़//नगर के ख्याति प्राप्त कवि एवं ‘म.प्र.लेखक संघ’ जिलाअध्यक्ष राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी’ को नव जागरण साहित्य संस्था बड़ा मलहरा ने ‘हिन्दू नव वर्ष’ पर सम्मानित किया तथा
 राना लिधौरी के सम्मान में ‘कवि गोष्टी’ आयोजित की।
कवि गोष्टी की अध्यक्षता सुरेन्द्र सिंह जी परमार उपाध्यक्ष नगर परिषद बड़ा मलहारा ने की तथा
 मुख्य अथिति के रूप में टीकमगढ़ से पधारे कवि राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी’ रहे,
 विशिष्ट अतिथि के रूप विजावर से पधारे कवि हीरालाल विश्वकर्मा रहे,
कार्यक्रम का संचालन मनोज तिवारी ने किया था।
इस अवसर पर नव जागरण साहितय संस्था के अध्यक्ष भरत अगवाल ने संस्था की तरफ से कवि राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी को शाल श्रीफल एवं सम्मान राशि से सम्मानित किया गया। सभी का आभार भरत अग्रवाल ‘अनुज’ ने माना कवि गोष्टी का शुभारंभ मालती जैन न सरस्वती वंदना करते हुए किया।
राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी’ ने हास्य व्यंग्य की कविताएँ सुनाकर श्रोताओं को खूब हँसाया-
नेताओं में फैली है गंदी राजनीति और घूसखोरी ,
चुनाव आने पर कहते है आई एम वेरी,वेरी सोरी,
भगाओं इस देश से ये भ्रष्टाचारी ये तो फैले है कश्मीर से कन्याकुमारी।।
इसके अलावा प्रमोद जैन गट्टू भैया,डाॅ. डी.के सोनी,मनीश गुप्ता,गौरी शंकर रावत,भरत अग्रवाल ‘अनुज’, डाॅ. देवदत्त द्विवेदी, मनीष तिवारी, गोकुल नामदेव आदि ने भी अपनी रचनाएँ सुनायी। ---
रिपोर्ट -राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी’                अध्यक्ष- म.प्र.लेखक संघ टीकमगढ़rajeev namdeo rana lidhori





  मोबाइल-9893520965

शनिवार, 18 मार्च 2017

‘डे केयर’ में मनायी धूमधाम से रंग पंचमी-

Date 17-3-2017
‘डे केयर’ में मनायी धूमधाम से रंग पंचमी-
नकली मिल रगों रग है, पै असली है भंग......-राना लिधौरी

टीकमगढ़//‘ डे केयर’, राजमहल परिसर में ‘रंगपचंमी’ धूमधाम से मनायी गयी ‘होली मिलन’ कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में म.प्र.लेखक संघ के अध्यक्ष एवं ख्यातिप्र्राप्त कवि राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी’  रहे
 व अध्यक्षता रामचरण मिश्र ने की जबकि 
विशिष्ट अतिथि के रूप रतन चन्द्र मुखिया सिंधी एवं सीताराम जी पटिया उपस्थित रहे।
प्रभुदयाल गुप्ता ने कार्यक्रम का संचालन किया।
कवि राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी ने होली न पर अपनी हास्य कविताओं से सबको खूब हँसाया उन्होंने पढ़ा-
नकली मिल रगों रग है, पै असली है भंग,कभउ न करियों कोउ नसा हो जाओगे तंग।
‘राना’ होरी खेलिए खूब पडौसन संग, पत्नी ने फिर देख लऔ तो हो जायेगी जंग।।
होली की फागे गायी एवं सभी ने एक दूसरे को गुलाल लगाकर गले मिलकर शुभकामनाएँ दी।
कार्यक्रम मे घनश्याम वर्मा, रघुनाथ साहू, कमलेश कुमार लक्ष्यकार,अशोक कुमार नामदेव, धर्मदास साहू, रामगोपाल सोनी, गोकुल प्रसाद यादव, मोहन लाल लखेरा,महादेव खरे, प्यारेलाल अहिरवार आदि सहित अनेक गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे।सभी का आभार प्रदर्शन बालमुकुन्द प्रजापति ने माना।

रपट- राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी’
   अध्यक्ष म.प्र.लेखक संघ,टीकमगढ़,
       मोबाइल-9893520965,






Holi

गुरुवार, 9 मार्च 2017

सृजन संवाद’ कार्यशाला 7-9 march 2017 भोपाल में

सृजन संवाद’ कार्यशाला 7-9 march 2017 भोपाल में
राना लिधौरी ने किया जिले का प्रतिनिधित्व

टीकमगढ़// राज्य संग्रहालय,श्यामला हिल्स भोपाल में ‘साहित्य अकादमी’ म.प्र. संस्कृति परिषद,द्वारा प्रदेश के युवा रचनाकारों की सृजनात्मक कार्यशाला 7-9 march 2017 आयोजित की गयी जिसमें प्रदेश के 40 जिले से साहित्यकार शामिल हुए। टीकमगढ़ जिले से ख्यातिप्राप्त युवा साहित्यकार राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी’ जिले का प्रतिनिधित्व किया।
इस कार्यशाला में श्री लक्ष्मी नारायण भाला भोपाल,प्रसिद्ध कहानीकार श्री अशोक जमनानी,होशंगाबाद, ख्यातिप्राप्त नाटककार डाॅ. धीरेन्द्र शुक्ला इटारसी,प्रसिद्ध आलोचक रामेश्वर मिश्र पंकज भोपाल,व्यंग्यकार श्री हरिजोशी भोपाल, निबंधकार डाॅ. श्रीराम परिहार खण्डवा, एवं सुप्रसिद्ध बाल साहित्यकार श्री कृष्ण कुमार अष्टाना इंदौर ने अपने विद्यागत व्याख्यान दिये तथा युवा रचनाकारों से संवाद स्थापित करते हुए द्वारा पूछे गये प्रश्नों के उत्तर दिये।
रात्रि में सांस्कृतिक कार्यक्रम के अंतर्गत कोरियोग्राफी क्षमा मालवीय द्वारा ‘नृत्य मंजरी, में मीरा, चतुरंग एवं राधा कृष्ण की प्रस्तुति एवं कोरियोग्राफी श्वेता देवेन्द्र द्वारा ‘नमन’ में ‘नर्मदा स्तुति,देवी,एकाकार’ की सुंदर प्रस्तुतियाँ दी गयी।
कार्यशाला के अंत में साहित्य अकादमी के निदेशक.डाॅ. उमेश कुमार ंिसंह द्वारा सभी प्रतिभागियों को प्रमाण पत्र कार्यशाला किट एवं पुस्तकें प्रदान करते हुए सभी का आभार प्रदर्शन किया गया।



--राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी’,
टीकमगढ़ म.प्र.
मोबा-9893520965





रविवार, 5 मार्च 2017

म.प्र. लेखक संघ की ‘नारी शक्ति’व ‘‘माँ’’ पर केन्द्रित हुई 221वीं गोष्ठी 5-3-2017

Date-5-3-2017
.प्र. लेखक संघ की ‘नारी शक्ति’व ‘‘माँ’’ पर केन्द्रित हुई 221वीं गोष्ठी

टीकमगढ़//नगर की सर्वाधिक सक्रिय साहित्यिक संस्था ‘म.प्र.लेखक संघ’
 जिला इकाई टीकमगढ़ की 221वीं गोष्ठी ‘नारी शक्ति’ एवं ‘माँ’ पर केन्द्रित
 डे केयर राजमहल परिसर में आयोजित की गयी।
 जिसमें मुख्य अतिथि डा.अनीता गोस्वामी रही एवं
अध्यक्षता वरिष्ठ कहानीकारा डाॅ. रूखसाना सिद्दीकी ने की तथा
 विशिष्ट अतिथि के रूप में श्रीमती सुधा खरे मंचासीन रही।
 श्रीमती सुधा खरे ने सरस्वती वंदना करते हुए यह रचना पढ़ी-
नारी ने जिम्मेदारी ली पूरी कर दिखलायेगी।
समय शिला की पृष्ट भूमि पर अमिट लेखक बन जायेगी।
डाॅ. अनीता गोस्वामी ने पढ़ा-
मैं लिखँूगी माँ, लेकिन क्या, हर शब्द तुमसे छोटा लगता है।।
मानवता की गौरव गान तुम्हीं हो, सुबह की बेला दिन की धूप गोधूलि की साँझ तुम्हीं हो।।
डाॅ. रूखसाना सिद्दीकी ने सुनाया-
रक्त के कतरे कतरे से बना मेरा वजूद।
 मेरी हर साँस में रहती है माँ मौजूद।।
बल्देवगढ़ से पधारे कवि यदुकल नंदन खरे ने सुनाया-
अमीरों का गरीबों से कोई न कोई संबंध तो होता है।
श्रम से भावनाआंे का खिलवाड़ होता है।।
बल्देवगढ़ से पधारे कवि कोमल चन्द्र बजाज ने पढ़ा-
नारी द्रोपदी,सीता,नारी लक्ष्मी बाई,
सीता जग में पूजयनीय, जो राम के पहले आई।।
लखौरा से पधारे बुन्देली कवि गुलाब यादव ‘भाऊ’ने पढ़ा-
नर से नारी में शक्ति,सभी गुणों की खान है।
ज्ञान वैराग वीरता भक्ति कैरय वेद पुरान है।।
राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी’ ने कविता सुनायी-
देखा सब कुछ इन आँखों ने, अब थकन सी लगती है।
मुझको तो ये माता मरियम, मदर टेरेसा लगती है।।
सियाराम अहिरवार ने पढ़ा- नारी तेरे रूप अनेकों,सबमें रूप ममत्व का।
  तेरे हर किरदार में देवी, भाव भरा अपनत्व का।।
अमिताभ गोस्वामी ने पढ़ा- हम भला कैसे तुम्हारा ऋण चुकाए।
  बस हृदय से दे रहे माँ को दुआएँ।।
अनवार खान ‘साहिल’ ने गजल पढ़ी-
ओढ़कर आ रहा तिरंगा में, मेरी माँ को खबर दे दे।।
पूरन चन्द्र गुप्ता ने पढ़ा- अद्भुद रचना है नारी की सृष्टि के संग्राम में,
बनी विजेता है वह हर दम, विधि के उस परिणाम में।
सीताराम राय ने सुनाया-
समर का श्ंाखनाद है नारी। तो समर्पण का सागर है नारी।।
राज राजेश्वर पाराशर ने रचना सुनायी-
श्वेत वस्त्र धारिणी,श्वेत पद्मासिनी,श्वेत करो उजियारा, दूर अंधकार हो।।
डी.पी.शुक्ला ने पढ़ा- या जग में भई देवी सत्यवती पवित्रता और बलवान।
रविन्द्र यादव ने पढ़ा- तूने संसार बनाया तेरे कई अवतार।
लगता है ये सारा जीवन तुझपै जाऊँ बार।।
बी.एल. जैन ने पढ़ा- नारी महान है क्योंकि वह घर की शान है।।
भारत विजय बगेरिया ने सुनाया-
 लड़की देश का भविष्य होती है,बलिदान की मूर्ति लक्ष्मीबाई होती है।।
धर्मदास साहू ने सुनाया-
कलयुग में सिद्ध हो देव तुम्हीं हनुमान तुम्हारा क्या कहना।
    तेरी शक्ति का क्या कहना, तेरी भक्ति का क्या कहना।।
इसके अलावा हरिविष्णु अवस्थी,वीरेन्द्र बहादुर खरे, विजय मेहरा,रामगोपाल रैकवार,अजीत श्रीवास्तव,हाजी जफ़र उल्ला खां जफर,रामस्वरूप पाण्डेय, कृष्ण कुमार रावत, एन.डी.सोनी, प्रभुदयाल श्रीवास्तव, एस.पी.खरे, रघुवीर आनंद, दयाली विश्वकर्मा, बाल मुकुन्द प्रजापति, जय प्रकाश कुशवाहा, प्रभुदयाल गुप्ता, आदि ने 38 कवियों ने काव्य पाठ कियाI
 गोष्ठी का संचालन उमाशंकर मिश्र‘तन्हा’ ने किया तथा
सभी आभार अध्यक्ष राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी’ ने माना।
---
रिपोर्ट -राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी’                                                अध्यक्ष- म.प्र.लेखक संघ टीकमगढ़
 मोबाइल-9893520965





women power

गुरुवार, 2 मार्च 2017

my blog up date-1-3-2017

My Blog Up Date-1-3-2017blogger


भोपाल में कवि सम्मेलन में काव्य पाठ करते राना लिधौरी

भोपाल में कवि सम्मेलन में काव्य पाठ करते राना लिधौरी

दिनांक 26-2-2017 को भोपाल (म.प्र.) के हिन्दी भवन में
 आयोजित ‘कवि सम्मेलन’ मे’ राना लिधौरी काव्य पाठ करते हुए-

इस कवि सम्मेलन में श्री पंवार राजस्थानी, (भोपाल), श्री महेन्द्र भट्ट (ग्वालियर), राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी (टीकमगढ़), डाॅ. राज गोस्वामी (दतिया),डाॅ.राधा वल्लभ आचार्य (भोपाल), श्री अनिरूद्ध सिंह सेंगर (गुना) डाॅ. रूखसाना सिद्दीकी (टीकमगढ़), श्री रामसेवक सोनी (अषोक नगर),श्री जगदीष चन्द्र चैरे (खण्डवा), रहीम होषंगाबादी (बीना),डाॅ. षैलेन्द्र चैकड़े (खरगौन),डाॅ. सुरेष रावल (उज्जैन) आदि सहित अनेक कवियों नेे काव्य पाठ किया सभी का आभार कैलाष जायसवाल ने माना।

रिपोर्ट-राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी’
अध्यक्ष-म.प्र.लेखक संघ टीकमगढ़